Ranjish Hi Sahi Lyrics - Mehdi Hassan | LyricsBowl

Ranjish Hi Sahi Lyrics from famous Artist Mehdi Hassan from Album Greatest Ghazals. Mehdi Hassan has put his feeling in the Ghazals beautifully to reach the hearts of Listeners.


Ranjish Hi Sahi Lyrics - Mehdi Hassan | LyricsBowl



Ranjish Hi Sahi Lyrics


रंजिश ही सही दिल ही दुखाने के लिए आ
आ फिर से मुझे छोड़ के जाने के लिये आ

अब तक दिल-ए-खुशफ़हम को हैं तुझ से उम्मीदें
ये आखिरी शम्में भी बुझाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

इक उम्र से हूँ लज्ज़त-ए-गिरया से भी महरूम
ऐ राहत-ए-जां मुझको रुलाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

कुछ तो मेरे पिन्दार-ए-मोहब्बत का भरम रख
तू भी तो कभी मुझ को मनाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

माना के मोहब्बत का छुपाना है मोहब्बत
चुपके से किसी रोज़ जताने के लिए आ
रंजिश ही सही...

जैसे तुम्हें आते हैं ना आने के बहाने
ऐसे ही किसी रोज़ न जाने के लिए आ
रंजिश ही सही...

पहले से मरासिम ना सही फिर भी कभी तो
रस्म-ओ-रहे दुनिया ही निभाने के लिये आ
रंजिश ही सही...

किस किस को बताएँगे जुदाई का सबब हम
तू मुझ से खफा है तो ज़माने के लिये आ
रंजिश ही सही...

If you have any problem with the above Ranjish Hi Sahi Lyrics, kindly contact us for any modification of lyrics.

Music Video of Ranjish Hi Sahi Song


Previous
Next Post »

Please don't spam any link in the comment box ConversionConversion EmoticonEmoticon